21 अक्तूबर 2010

मीडिया बिकाउ माल

सच बात तो यह है की मीडिया यहां बिकाउ माल हो गया है और नितिश कुमार सबसे बडे खरीददार. अब मीडिया से जनता का भरोसा उठ गया. सभी मे ज्यादा से ज्यादा धन कमाने की होड मची है और सभी पतन के और रेस में है.................राम बचाए मीडिया से. अब आदमी किस पर भरोसा करेगा. कैसे यह देश बचेगा. अब गांधी जी और भगत सिंह कहां मिलेंगे...

रंडीबाज

रंडीबाज (लघुकथा, एक कल्पकनिक कथा। इस कहानी से किसी व्यक्ति या संस्था को कोई संबंध नहीं है) चैत के महीने में अमूमन बहुत अधिक गर्मी नहीं होत...