11 फ़रवरी 2013

हाय सरकारी स्कूल



यह है बिहार सरकार का सरकारी स्कूल। तेउस पंचायत का जयंती ग्राम मुसहरी का मध्य विद्यालय। यहां बच्चे मध्यान भोजन कुत्तों के साथ बैठ कर खा रहे है। इस स्कूल 100 प्रतिशत मांझी जाति के बच्चे पढ़ते है। मध्यान भोजन का एक बड़ा हिस्सा शिक्षकों के जेब में चला जाता है तब यह हाल है...शिक्षकों की संवेदनहीनता की यह प्रकाष्ठा है....





3 टिप्‍पणियां:

  1. लानत है प्रशासन पर जि‍से इंसान के बच्‍चे और जानवर में फ़र्क नहीं पता. ये फ़ोटो मुख्‍यमंत्री नि‍तीश कुमार को भेजे जाने चाहि‍ए.

    उत्तर देंहटाएं
  2. शाशन की हर योजनाओं का अधिकारी पलीता लगा देते है,,,,

    RECENT POST... नवगीत,

    उत्तर देंहटाएं

जो लोग अपने मां—बाप को प्रेम दे पाते हैं, उन्हें ही मैं मनुष्य कहता हूं..

ओशो को पढ़िए आपने कल माता और पिता के बारे में जो भी कहा , वह बहुत प्रिय था। माता—पिता बच्चों को प्रेम देते हैं, लेकिन बच्चे माता—पिता को प्र...