07 जनवरी 2015

आ थू .....(पेरिस में आतंकी हमले में शहीद पत्रकारों को श्रद्धांजलि)

आ थू .....(पेरिस में आतंकी हमले में शहीद पत्रकारों को श्रद्धांजलि)
मार देना मुझे भी 
पर याद रखना 
ओ मौत के सौदागर 
बहुत लोग है 
जो नहीं डरते मौत से 
और उनका निडर 
रक्तबीज
तेजी से बढ़ता है 
एक मरोगो 
सौ कतार में खड़े होंगे 
सच के लिए 
मरने वाले 
सच के लिए 
लड़ने वाले
और हाँ 
ये खुदा के नापाक बन्दे 
सुन लो 
हम गोलियों से नहीं डरते 
और तुम
कार्टून से डर जाते हो ...
आ थू .....
आ थू .....
(तस्वीर- पेरिस में शहीद पत्रकार का एक कार्टून )

एक भूमिहार ब्राह्मण रमेश सिंह भला भूख से कैसे मर सकता है...? सबका यही सवाल..

( मैं हूँ ट्विटर पे @arunsathi ) घटना उद्वेलित भी करती है और उद्विग्न भी। मंगलवार की शाम जब यह खबर मिली की भूख और आर्थिक तंगी की वजह से शे...