29 अप्रैल 2017

WhatsApp ग्रुप के द्वारा समाज सेवा की अनोखी पहल

जिसका कोई नहीं उसका तो खुदा है यारों

(बरबीघा चौपाल, एक सकारात्मक पहल)
समाज में सकारात्मक और रचनात्मक पहल करने भर की देरी है, अच्छे लोग मिल ही जाते हैं और हाथ बढ़ाकर कमजोर को थाम लेते हैं। ऐसा ही हुआ है बरबीघा में। एक बेसहारा बच्ची को पढ़ाई लिखाई, कॉपी-किताब, गाड़ी, ड्रेस का मदद दे कर हाथ थाम लिया गया है। यह बच्ची जब तक पढ़ेगी  सारी सुविधाएं निशुल्क होगी।

बरबीघा चौपाल की अनुशंसा पर दूसरे साल भी एक कमजोर वर्ग के बच्चे का निशुल्क पढ़ाई-लिखाई पुस्तक और कॉपी का भार संत मैरी स्कूल के द्वारा उठाया गया है। यह बच्ची बरबीघा नगर पंचायत के शेरपर गांव निवासी (वार्ड संख्या 5) के रहने वाले स्वर्गीय राजेश कुमार शर्मा की पुत्री कीर्ति राज है। कीर्ति 5 वर्ष की है। इसकी परवरिश दादा विजय ठाकुर के द्वारा किसी तरह किया जा रहा है। कृति का नामांकन आज संत मैरी स्कूल में प्रिंसिपल प्रिंस पीजे के सहयोग से हो गया। इसके आने जाने का खर्च भी स्कूल के द्वारा ही उठाया जाएगा। जबकि इसके ड्रेस, जूते, मौजे का प्रबंध का भार एक गुप्त चौपाली ने अपने कंधे पर लिया है।
बताना जरूरी है कि पिछले साल भी बरबीघा चौपाल की पहल पर इसी स्कूल में कोयरीबीघा निवासी उदय यादव के पुत्र सोनू कुमार का नामांकन हुआ था और उसकी पढ़ाई चल रही है। इस मौके पे चौपाल के सदस्य धर्मवीर, हरिशंकर, रितेश, शब्बीर हुसैन बंटी, सुधांशु कश्यप, विजय ठाकुर सहित अन्य मौजूद थे। #ThinkPositive #DoPositive #BarbighaChaupal

सोशल मीडिया छोड़ो सुख से जियो, एक अनुभव

सोशल मीडिया छोड़ो, सुख से जियो, एक अनुभव अरुण साथी पिछले कुछ महीनों से फेसबुक एडिक्शन (सोशल मीडिया एडिक्शन) से उबरने के लिए संघर्ष करना पड़ा...