02 अक्तूबर 2015

गांधी को किसने मारा ?

गांधी को किसने मारा ?
***
गोरे अंग्रेजों के जाने के बाद
जिन्ना की जगह
पंडित जी हुए प्यारा ।
सोंचों गांधी को किसने मारा ?

***
सेकुलरिज्म के झंडाबदारों
बताओ
देश का प्रधान
मोमिन क्यूँ नहीं हुआ
और
डॉ कलाम जैसा भी क्यूँ हारा ?
सोंचों गांधी को किसने मारा ?
***
नौआखाली से लेकर
गोधरा,
गुजरात,
मुजफरनगर,
पानेसर,
दाभोलकर,
और कुलबर्गी तक
गोडसे हर बार हुंकारा ।
सोंचों गांधी को किसने मारा ?
***
रघुपति राघव
मुल्लों को लगा न प्यारा,
ईश्वर अल्ला
पंडित को हुआ न गंवारा
सोंचों गांधी को किसने मारा ?
***

न सत्य
न अहिंसा
न ही गांधीवादी
विचारधारा है ।
सच तो ये है कि
गांधी को हमने ही मारा है ।
गांधी को हमने ही मारा है ।।
------02/10/2015----
@अरुण साथी/बरबीघा/बिहार 9234449169

3 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (04-10-2015) को "स्वयं की खोज" (चर्चा अंक-2118) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, दुनिया उतनी बुरी भी नहीं - ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं

गोदी मीडिया के सहारे चौथे खंभे पे प्रहार..

गोदी मीडिया!! मीडिया के मनोबल तोड़ने की एक जबरदस्त साजिश आजकल भारत के चौथे खंभे पर प्रहार की जबरदस्त साजिश चल रही है। अभी ममता बनर्जी ने भी...