22 मई 2010

हत्यारे के पास यदि पैसा हो तो बिहार की पुलिस उसे आराम से घर जाने दे सकती हैं।

शेखपुरा- हत्यारे के पास यदि पैसा हो, बिहार की पुलिस उसे आराम से घर जाने दे सकती हैं। ऐसा ही एक नजारा देखने को मिल रहा है जिले के मेहूस गांव में। मेहूस गांव में डीलर रामानन्द सिंह जब अपने साथियों के साथ गांव के चौपाल पर बैठे थे तभी एक टरक तेज गति से  आते हुए उनके मकान में धक्का मार दिया जिसका विरोध  जब डीलर रामान्नद ने जब इसका विरोध किया तो नशे मे धुत्त चालक ने रॉड से डीलर के सर पर बार कर दिया जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। बाद में ग्रामीणों के सहयोग से जब चालक को पकड़ कर मेहूस थाना पुलिस के हवाले किया तो मेहूस पुलिस ने चालक को नज़राना लेकर फरार कर दिया। इस घटना से गुस्साए लोगों ने मेहूस थाना का घेराव किया तथा रोष जताते हुए थानाध्यक्ष पर कार्यवाई की मांग कर रहे है।

रंडीबाज

रंडीबाज (लघुकथा, एक कल्पकनिक कथा। इस कहानी से किसी व्यक्ति या संस्था को कोई संबंध नहीं है) चैत के महीने में अमूमन बहुत अधिक गर्मी नहीं होत...