03 जून 2010

नीतीश कुमार सबसे बड़े जातिवादी-पूर्व जदयू प्रदेश अध्यक्ष




शेखपुरा-बिहार
अरूण ``साथी´´
बिहार कें प्रथम मुख्यमन्त्री डा. श्रीकृष्ण सिंह के पैतृक आवास पर उनके पौत्र हीरा सिंह के द्वारा आयोजित किसान सम्मेलन की सफलता पर धन्यवाद ज्ञापन समारोह में बिहार की राजनीति के नए करबट लेने की सुगबुगाहट साफ दिखी। बिहार की राजनीतिक महौल में किसान पंचायत के बाद से आई शान्ति के बाद एक बार फिर से उबाल तब आ गया जब प्रदेश जदयू के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने बिहार के मुख्यमन्त्री नीतीश कुमार पर सीधा प्रहार करते हुए उन्हें जातिवादी नेता करार देते हुए कहा कि जयदेव प्रसाद की जयन्ती समारोह में जिसने भरी मंच से नीतीश कुमार की उपस्थिति में सवणोZं को गाली देने का काम किया नीतीश कुमार ने उसे राज्य सभा का टिकट देकर यह साबित कर दिया कि बिहार की जनता को लालू प्रसाद के बाद नीतीश कुमार ने भी छला है। ललन सिंह ने उपेन्द्र कुशवाहा पर कटाक्ष करते हुए कहा की जो लोग समाज को तोड़ने की बात करते हुए राजनीत करते है उन्हीं लोगों को नीतीश कुमार ने प्राश्रय दिया साथ ही ललन सिंह ने ब्यूरोक्रेट रहे नीतीश कुमार के सचिव आर. सी. पी. सिंहा को भी राज्य सभा से टिकट दिए जाने पर कहा कि स्वजातिय लोगों को लाभ पहूंचाकर नीतीश कुमार लालू जी के साथ ही खड़े दिखते है। पत्रकार वार्ता में नीतीश कुमार और लालू यादव को लेकर ललन सिंह ने कहा कि बड़े भाई और छोटे भाई से अलग विकल्प विभान सभा चुनाव से पूर्व ही दिया जाएगा। कांग्रेस में जाने की बात पर ललन सिंह ने सीधा सीधा तो कुछ नहीं कहा पर इससे  इंंकार भी नहीं किया और कहा कि समय आने पर सब पता चल जाएगा। उन्होंने नीतीश कुमार से केन्द्र के पैसे से हो रहे विकास पर वाहवाही लूटने की बात कहते हुए कहा कि नीतीश कुमार से इस बात का जबाब मांग रहें की वे बताए की उनके द्वारा कहां विकास किया गया है। पत्रकार के द्वारा यह पूछे जाने पर की क्या वे फिर से समझौता कर नीतीश के साथ चले जाएगें और यह राजनीतिक कुटनीति के तहत किया जा रहा है, ललन सिंह ने कहा कि वे जिसके साथ  होते है, साथ होते है और नीतीश के साथ जाने का सवाल नहीं उठता। इस अवसर पर मौजूद राजद के नेता एवं पूर्व मन्त्री अखिलेश सिंह ने कहा कि लालू यादव को सत्ता से हटाने के लिए सवणोZं ने नीतीश का साथ दिया और नीतीश कुमार उससे भी धातक धोखेबाज निकले। श्री सिंह ने साफ कहा की सवणोZं का वोट लालू जी को नहीं मिलता था और आज भी लालू प्रसाद को नहीं मिलेगी वशर्तो वे कोई अलग रणनीति नहीं बनाते। समारोह में मौजूद सांसद एवं पूर्व मन्त्री दिग्यविजय सिंह ने नीतीश कुमार अवसरवादी राजनीति का धोतक बाताते हुए कहा कि एक बार नीतीश कुमार को वे अपनी जीत निर्दलीय  से सुनििश्चत कर दे चुके है और विधानसभा चुनाव में फिर से देगें।
बरबीघा के माउर गांव में आयोाजित समारोह में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे जिसमें जिप सदस्या किरण देवी, पूर्व मुखीया जयराम सिंह, मुकेश सिंह, शिवप्रसाद सिंह, राजीव सिंह, चुनचुन मुखीया प्रमुख है।

एचएम और शिक्षक सरकारी स्कूल में पी रहे थे ताड़ी, शिक्षक ने मिलाया जहर

सरकारी स्कूल में नशीला पदार्थ आया ताड़ी, शिक्षक ने मिलाया जहर शेखपुरा बिहार में शिक्षा व्यवस्था का हाल बदहाल है। सरकारी स्कूल में प्रधानाध्...