12 मार्च 2015

किसानों से धान खरीद में अरबों का घोटाला....

पूरे बिहार में धान खरीद को लेकर खुलेआम लूट मची हुई है। करोड़ों-अरबों की इस लूट में पदाधिकारियों, पैक्स अध्यक्षों और बैंकों की मिलीभगत से यह सब हो रहा है। किसान 1100 रूपये प्रति क्विंटल धान को बाजार भाव में बेच रहंे है और वही धान पैक्स अध्यक्ष और पदाधिकारी खरीद कर एफसीआई को दे रहें है जहां उनको 1660 रू0 मिल रहा है। आलम यह है कि जो किसान खेती भी नहीं करते और बाहर रहते है उनके रसीद पर भी धान के बेच दिया गया है और इस सब में बैंक की मिलीभगत भी है जहां किसान के नाम पर नकली खाता खोल कर चेक को भंजा दिया जा रहा है।
इस लूट की छुट पर सभी मौन है क्योंकि बड़ी मोटी रकम सबको मिलती है पर इसकी गहनता से जांच हो तो अरबों रू0 का घोटाला सामने आए...

वोट बैंक में बदला धर्म लोकतंत्र का जहर

वोट बैंक में बदला धर्म लोकतंत्र का जहर अरुण साथी ताजिया को अपने कंधे पर उठाए मेरे ग्रामीण युवक बबलू मांझी रात भर जागकर नगर में घूमता रहा। ...