28 दिसंबर 2009

काव्य-(कारण)

काव्य-(कारण)
पूछा दोस्तों ने मुझसे
क्यों प्रेम किया तुमसे
मैने कहा पता नहीं
सभी ने पूछा
पर मां
वो समझती थी केवल
तुम्हारे घरवालेे ने कहा
सारी बुराइयों है मुझमें
कारण सभी जानना चाहतें है
किसे पता है प्रेम में कारण नहीं होता।

रंडीबाज

रंडीबाज (लघुकथा, एक कल्पकनिक कथा। इस कहानी से किसी व्यक्ति या संस्था को कोई संबंध नहीं है) चैत के महीने में अमूमन बहुत अधिक गर्मी नहीं होत...