02 दिसंबर 2010

चौथाखंभा: वर्तमान समर के सदंर्भ में

चौथाखंभा: वर्तमान समर के सदंर्भ में: "समर भूमि मेंसत्य की पराकाष्ठाकर्ण की परिणति की पुर्नावृति होगी।औरअसत्य की पराकाष्ठाबनाएगा `दुर्योधन´-कालखण्डों का खलनायक।शेषकृष्ण की तरहसत्य..."

रंडीबाज

रंडीबाज (लघुकथा, एक कल्पकनिक कथा। इस कहानी से किसी व्यक्ति या संस्था को कोई संबंध नहीं है) चैत के महीने में अमूमन बहुत अधिक गर्मी नहीं होत...