02 दिसंबर 2010

चौथाखंभा: वर्तमान समर के सदंर्भ में

चौथाखंभा: वर्तमान समर के सदंर्भ में: "समर भूमि मेंसत्य की पराकाष्ठाकर्ण की परिणति की पुर्नावृति होगी।औरअसत्य की पराकाष्ठाबनाएगा `दुर्योधन´-कालखण्डों का खलनायक।शेषकृष्ण की तरहसत्य..."

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अग्निपथ पे लथपथ अग्निवीर

भ्रम जाल से देश नहीं चलता अरुण साथी सबसे पहले अग्निपथ योजना का विरोध करने वाले आंदोलनकारियों से निवेदन है कि सार्वजनिक संपत्तियों का नुकसान ...