30 दिसंबर 2010

चिकित्सा जगत के लिये अजुबा बना है। युवक के ऑखों से निकल रहा है कीड़ा। रिसर्च के लिये वीरायतन एवं पटना आर्युविज्ञान संस्थान भेजा गया।

शेखपुरा जिले के करिहो गॉव निवासी 28 वर्षीय युवक नंदेलाल यादव के ऑखों की बॉये पुतली से लगातार कीड़ा निकल रहा है। जिससे ऑखों के चिकित्सक इस अजीबो-गरीब घटना से भी आश्चर्य चकित है। यह वाक्या शहर के जमालपुर रोड स्थित जीवन-ज्योति ऑख अस्पताल में इलाज के  भर्ती हुए मरीज नंदेलाल के साथ घटित हुआ है। जिससे इलाज के लिए भरती हुआ मरीज सहमें है। पिछले 12 घंटों के दरम्यान जीवन ज्योति ऑख अस्पताल के आई स्पेस्लिस्ट डा0 राकेश रंजन अब तक 40 कीड़े निकाल  चुके है। इस बाबत ऑख अस्पताल में ईलाज करा रहे युवक ने बताया कि वह मजदूरी कर अपनी पत्नी और बच्चों का पेट पाल रहा है। पिछले छहमाह से बॉये ऑख में खुजली होती थी। तब ऑखों को हाथ से ही रगड़कर ठीक कर लेता था। बीच में जब कभी खुजलाहट होती थी तो दवा दूकानदार से पूछकर आई ड्राप ले लेता था।

    मंगलवार की संध्या जब ऑखों की जलन बढ़ी तो अस्पताल में आये। अलग-अलग जॉच के बाद उसके ऑख में बड़ी तादाद में कीड़ा पाया गया। नंदेलाला ने बताया कि अब तक डाक्टर द्वारा उसके ऑख से 40 जीवित कीड़ा निकाला जा चुका है। अब डाक्टर साहब द्वारा बेहतर ईलाज के लिए विरायतन भेजा जा रहा है। इस बाबत नंदेलाल की ऑख की इलाज कर रहे डा0 राकेश रंजन सने बताया कि नंदेलाल द्वारा गंदे पदार्थ का भोजन करने के कारण उसके शरीर में कीड़ा फैल कर खुन के जरिये ऑखों के स्लेक्टा में जमा हो गया है। उसकी ऑखों से निकल रहे कीड़े शौच के साथ निकलने वाला उजला कीड़ा है। लेकिन नंदेलाल के ऑखों तक पहुॅचना अजीबोगरीब वाक्या है। इसके रिसर्च के लिए वीरायतन या पटना आयुर्विज्ञान संस्थान भेजा सजा रहा है। डा0 राकेश रंजन ने बताया कि नंदेलाल को फिलहाल बीटाडीन आई ड्राप, मैक्सी टेबलेट एवं प्रोक्साडीन दवा दिया गया है। जिससे निकल रहा कीड़ा मरा हुआ निकल रहा है।  

एचएम और शिक्षक सरकारी स्कूल में पी रहे थे ताड़ी, शिक्षक ने मिलाया जहर

सरकारी स्कूल में नशीला पदार्थ आया ताड़ी, शिक्षक ने मिलाया जहर शेखपुरा बिहार में शिक्षा व्यवस्था का हाल बदहाल है। सरकारी स्कूल में प्रधानाध्...