30 जनवरी 2011

कुछ बोलती तस्वीर...........


जो मेरे मित्र निरंजन जी (पेशे से वकील एवं पत्रकार) ने भेजी है.




सोंचा आपसे भी सांझा करलूं....

मौत से लड़कर रोहित का चला जाना गम दे गया...

मौत से लड़कर रोहित का चला जाना.. गम दे गया.. (अरुण साथी) मुझे ऑक्सीजन की जरूरत है, कहाँ मिलेगा.…..तकलीफ हो रही है...रोहित का कॉल। एक लड़खड़ात...