02 मार्च 2010

जुर्म है हॉकी खिलाड़ी शिवेन्द्र पर लगा प्रतिबंध भारत सरकार करे पहल

हॉकी के विश्व कप में भारत के साथ अन्याय हो रहा है। भारत के लिए गोल करने वाले शिवेन्द्र को इस जुर्म की सजा मिली जिसने वह किया ही नहीं। शिवेन्द्र  को इस बात की सजा मिली जिसके लिए किसी ने शिकायत नहीं की। साफ लगता है कि आस्टलिया के रेफरी ने अपने देश की मैच को देखते हुए ऐसा किया है। सभी इसका विरोध कर रहे है। भारत सरकार को इसपर पहल करनी चाहिए।  आखिरकार यह भारत के खिलाड़ियों के हौसले तोड़ने की साजीश ही तो है। हॉकी के खिलाड़ी इसकी वजह से तनावग्रस्त है। मेजवान भारत के साथ ऐसा करके लिए रेफरी ने जता दिया कि भारत के हॉकी से सभी डरते है।

रंडीबाज

रंडीबाज (लघुकथा, एक कल्पकनिक कथा। इस कहानी से किसी व्यक्ति या संस्था को कोई संबंध नहीं है) चैत के महीने में अमूमन बहुत अधिक गर्मी नहीं होत...