21 जनवरी 2010

वरदे वीणा वादणि वरदे के साथ सरस्वती पूजा संपन्न

वरदे वीणा वादणि वरदे के साथ सरस्वती पूजा संपन्न
विद्या की देवी सरस्वती की आराधना का पर्व वसन्त पंचमी हषोZल्लास के साथ
संपन्न हो गया। वरदे वीणा वादणि वरदे के स्वर संगीत से गुंजायमान वसन्त
पर्व पर बच्चों में खासा उत्साह देखा गया तथा इस अवसर पर विभिन्न
विद्यालयों एवं संस्थानों के द्वारा मां शारदे की प्रतिमा स्थापित कर
पूजा-अर्चना की गई। सुबह में जहां कड़ाके की ठंढ और शीतलहर से लोग अपने
घरों से नहीं निकल रहे थे वहीं बच्चों का उत्साह रात भर पूजा पण्डालों को
सजाने में देखा गया। सरस्वती उपासना के इस महापर्व को लेकर विकास
विद्यालय, डिवाइन लाइट पब्लिक स्कूल, आर्दश विद्या भारती, कन्या मध्य
विद्यालय, दिनकर नगर पूजा समिति, सरस्वती विद्या मन्दिर सहित अन्य
शैक्षणिक संस्थानों के द्वारा पूजा-आराधन किया गया। इस अवसर पर विभिन्न
घरों में भी सरस्वती मां की प्रतिमा स्थापित कर पूजा आराधना की गई।

कविवर को नमन

किसान (कविता) / मैथिलीशरण गुप्त हेमन्त में बहुदा घनों से पूर्ण रहता व्योम है पावस निशाओं में तथा हँसता शरद का सोम है हो जाये अच्छी भी फसल...